जीमेल मैं CC और BCC का अर्थ क्या है ?

CC और BCC क्या होता है जीमेल के अंदर उस

जीमेल मैं CC और BCC का अर्थ

CC = सीसी की फुल फॉर्म होती है कार्बन कॉपी | इसका काम यह है कि अगर आप किसी को मेल भेजते है तो उसकी एक कार्बन कॉपी भी आप किसी को दे सकते हैं और वह आपको उसकी जीमेल आईडी को सीसी में लिखकर करना होगा| सीसी में आप एक से अधिक जीमेल आईडी को भी लिख सकते हैं।

उदाहरण : मान लीजिए आप अभिषेक को एक ईमेल भेजना चाहते हैं और साथ में यह भी चाहते हैं कि आप जो मेल अभिषेक को भेज रहे हैं उसकी सीसी (कार्बन कॉपी) आप अजय को भी देना चाहते हैं तो अजय की जीमेल आईडी को आप सीसी में लिखे गे, आप अजय को मेल नहीं भेज रहे हैं
आपने अभिषेकo को जो मेल भेजा है उसकी एक कार्बन कॉपी आप अजय को भेज रहे हैं।

BCC = बीसीसी की फुल फॉर्म ब्लाइंड कार्बन कॉपी होती है और इसका अर्थ है कि अगर आप किसी को कार्बन कॉपी देना चाहते हैं और साथ ही आप यह भी चाहते हैं कि यह बात ‘टू’ यानी जिसको भेज रहे हैं उसे और सीसी वालो को पता ना चले तो उस व्यक्ति की जीमेल आईडी आप बीसीसी में लिखे गए आप जिस व्यक्ति की जीमेल आईडी बीसीसी में लिखोगे उससे कार्बन कॉपी तो जरूर मिलेगी पर यहां बात टू ओर सीसी वालो को पता नहीं चलेगी बीसीसी में आप एक से अधिक जीमेल आईडी भी लिख सकते हैं।

तो आपको पता चल ही गया होगा कि जीमेल मैं CC और BCC क्या होता है और जीमेल के अंदर उसका क्या यूज है।

 जीमेल क्या होता है?

जीमेल गूगल द्वारा 1 अप्रैल 2004 में शुरू किया गया और आज के समय में बड़ी-बड़ी कंपनियां जीमेल को रोजमर्रा कार्य के लिए भी इस्तेमाल कर रही है। आइए जानते हैं कि यह क्या होता है। 
यह एक ईमेल सर्विस है जो गूगल के द्वारा बनाई गई है और यहां फ्री है और इसका इस्तेमाल आप किसी को भी ईमेल भेजने के लिए कर सकते हैं | ईमेल के द्वारा आप अपनी इंपॉर्टेंट फाइल डॉक्यूमेंट और प्रेजेंटेशन भेज सकते हैं | आज ईमेल में आप टेक्स्ट के साथ इमेज और वीडियो को भी साथ रखकर अटैच करके भेज सकते हैं ।

Faq’s

जीमेल मैं CC का अर्थ क्या है

CC = सीसी का फुल फॉर्म होता है कार्बन कॉपी कार्बन कॉपी इसका काम यह है किअगर आप किसी को मेल भेजते है तो उसकी एक कार्बन कॉपी भी
आप किसी को दे सकते हैं और वह आपको उसकी जीमेल आईडी को
सीसी में लिखकर gmail send करना होगा सीसी में आप एक से अधिक जीमेल आईडी को भी लिख सकते हैं।

जीमेल मैं BCC का अर्थ क्या है

बीसीसी की फुल फॉर्म ब्लाइंड कार्बन कॉपी होती है और इसका अर्थ है
कि अगर आप किसी को कार्बन कॉपी देना चाहते हैं और साथ ही आप यह भी चाहते हैं
कि यह बात ‘टू’ यानी जिसको भेज रहे हैं उसे और सीसी वालो को पता ना चले
तो उस व्यक्ति की जीमेल आईडी आप बीसीसी में लिखे गए
आप जिस व्यक्ति की जीमेल आईडी बीसीसी में लिखोगे उससे कार्बन कॉपी
तो जरूर मिलेगी पर यहां बात टू ओर सीसी वालो को पता नहीं चलेगी
बीसीसी में आप एक से अधिक जीमेल आईडी भी लिख सकते हैं।

gmail kab bana or kis ke dwara banaya gaya


जीमेल गूगल द्वारा 1 अप्रैल 2004 में शुरू किया गया .

Read More:

Best top 10 antiviruses for pc

What makes computers fast and powerful?

फ्यूचर इन कॉमर्स – Future in Commerce

RS-CIT Course

अपना इंस्टाग्राम अकाउंट को परमानेंटली डिलीट कैसे करें ?How to delete Instagram Account

यूट्यूब चैनल बनाने के बाद किन-किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए

FUTURE IN AFFILIATE MARKETING

PUBG New State Shortcut – The Easy Way

Wireless technology – वायलेस टेक्नोलॉजी

# Why is Google map slow on my computer?

ऑपरेटिंग सिस्टम – Operating System

AI क्या है?  कुछ AI के जरिए बनाए गए गैजेट्स

10 Social Media Blogging

Leave a Reply