Wireless technology – वायलेस टेक्नोलॉजी

Wireless technology के जरिए वायरलेस कम्युनिकेशन संभव हो पाया है
wireless technology

 Wireless technology के जरिए वायरलेस कम्युनिकेशन संभव हो पाया है| यह कम्युनिकेशन तारों के ब्लॉक और भौतिक माध्यम जैसे कनेक्शन का उपयोग किए बिना एक बिंदु से दूसरे तक सूचना प्रसारित करने की एक विधि है। वायरलेस कम्युनिकेशन की मदद से ट्रांसमीटर और रिसीवर को कुछ मीटर से या कुछ हजार किलोमीटर के बीच कहीं भी रखा जा सकता है| हम आम जीवन में भी कई सारे वायरलेस डिवाइस यूज करते हैं जैसे मोबाइल फोन, जीपीएस रिसीवर, ब्लूटूथ ऑडियो, वाईफाई, आदि।

वायरलेस कम्युनिकेशन को किसी भी टॉपिक माध्यम की जरूरत नहीं होती है| यह अंतरिक्ष के माध्यम से ही संकेत को आगे भेजता है। क्योंकि अंतरिक्ष केवल बिना किसी मार्गदर्शन के सिग्नल ट्रांसमिशन के लिए अनुमति देता है इसलिए वायरलेस कम्युनिकेशन में उपयोग किए जाने वाले माध्यम को अनगाइडेड मीडियम कहते हैं। वायरलेस कम्युनिकेशन में उपयोग किए जाने वाले केबल नहीं है बल्कि सिग्नल के प्रसारण और रिसेप्शन एंटीना के साथ कम्युनिकेशन होता है

वायरलेस टेक्नोलॉजी (Wireless technology) के प्रकार

  • टेलीविजन एंड रेडियो ब्रॉडकास्टिंग 
  • सेटेलाइट कम्युनिकेशन
  • रडार
  • रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन
  • कॉर्डलेस फोंस
  • व्लेन नेटवर्क (wi-fi)
  • ब्लूटूथ
  • पेजिंग
  • GPS
  • मोबाइल टेलिफोन सिस्टम
type of wireless technology

वायरलेस कम्युनिकेशन के फायदे

  •  डिजास्टर रिकवरी = किसी भी आपदाओं के कारण दुर्घटनाओं के मामले में वायरलेस कम्युनिकेशन सिस्टम में नुकसान कम से कम होता है|
  • उपलब्धता = वायरलेस टेक्नोलॉजी को रिमोट के जरिए आसानी से नेटवर्क से कनेक्ट कर सकते हैं।
  • विश्वसनीयता = इनके ब्लॉक के क्षति ग्रस्त होने के कारण कम्युनिकेशन की विफलता का कोई मौका नहीं है जो पर्यावरण परिस्थितियों केवल ब्रेक और मैटर कंडक्टर रोके प्रकृति हाथ के कारण हो सकता है।
  • सुविधा = मैसेज प्राप्त करने या पास करने के लिए फिजिकल रूप से कुछ भी जोड़ने की आवश्यकता नहीं।
advantages and disadvantages of wireless technology

 वायरलेस कम्युनिकेशन के दुष्प्रभाव

  • स्वास्थ्य संबंधित चिंता = किसी भी प्रकार के रेडिएशन का लगातार संपर्क में आना बहुत खतरनाक है। इसलिए RF रेडिएशन से जितना हो सके उतना बच्चे।
  • सुरक्षा = वायरलेस कम्युनिकेशन की मुख्य चिंताओं में से एक डेटा की सुरक्षा है क्योंकि सिग्नल खुले स्थान पर ट्रांसमिशन होते हैं इसलिए संभव है कि एक घुसपैठिया सिग्नल को रोक सकता है और अपनी प्राइवेट जानकारी को कॉपी कर सकता है।

अन्य पढ़े-

Best top 10 antiviruses for pc

What makes computers fast and powerful?

फ्यूचर इन कॉमर्स – Future in Commerce

RS-CIT Course

अपना इंस्टाग्राम अकाउंट को परमानेंटली डिलीट कैसे करें ?How to delete Instagram Account

यूट्यूब चैनल बनाने के बाद किन-किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए

FUTURE IN AFFILIATE MARKETING

PUBG New State Shortcut – The Easy Way

Leave a Reply